Those who were killed and destroyed, now the gang was asking for donations in their name. People caught Kashmiri Shabbir and Fazil.”

ज्योतिष: आपके प्रश्न का उत्तर


इस घटना के बारे में आपके क्या विचार हैं कृपया कमेंट करके हमें अवश्य बिता बताएं।

सनातन 🚩समाचार🌎 सारी दुनिया जानती है कि कश्मीर से हिंदुओं को किस तरह से काट काट कर खत्म कर दिया गया था, और किस तरह से उनकी बहू बेटियों के साथ सामूहिक बलात्कार करके उनकी हत्या कर दी गई थी। उस सामूहिक नरसंहार के बाद बहुत सारे हिंदुओं को कश्मीर से भागने के लिए विवश होना पड़ गया था और हिंदुओं की हत्याओं का क्रम आज भी जारी है।

इसके साथ ही एक सच्चाई यह भी है की यह लोग अब भी उन्हीं हिंदुओं की भलाई के लिए हिंदुओं से पैसे इकट्ठे कर रहे हैं जिन हिंदुओं का इन लोगों ने नरसंहार किया था। दरअसल देश की राजधानी दिल्ली में नॉर्थ वेस्ट दिल्ली के कराला गांव के लोग उस समय बेहद आश्चर्य में पड़ गए जब उन्होंने शरणार्थी हिंदुओं के लिए चंदा मांगने वाले लोगों को रोककर उनसे पूछताछ की तो पता चला कि वह वास्तव में कश्मीरी मुसलमान हैं। इसके बाद स्थानीय लोगों ने इस गिरोह के दो लोगों को दबोच लिया।

एक तरफ जहां कश्मीर में आज भी कश्मीरी हिंदुओं को लगातार कट्टरपंथियों से खतरा बना हुआ है वहीं दूसरी ओर देश की राजधानी दिल्ली में उन्हीं लोगों के द्वारा घर घर जाकर चंदा वसूला जा रहा है जिन्होंने हिंदुओं का नरसंहार किया था। लोगों ने इन्हें पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया है। इस मौके पर शरणार्थी हिंदुओं के नाम पर चंदा वसूलने वाले लोगों से पूछ ताछ करने वाले लोगों में इस बात को लेकर बेहद आक्रोश था कि वे लोग पीड़ित हिंदुओं के नाम पर चंदा मांग रहे थे। जबकि वे लोग खुद कश्मीर के मुसलमान हैं।

पूछताछ के बाद इन चंदा मांगने वालों की असल पहचान सामने आने पर स्थानीय लोगों ने उन्हें कंझावाला पुलिस के हवाले कर दिया है। इनको पुलिस के हवाले करने वाले लोगों ने बताया है कि यह लोग कश्मीर से भगाए गए शरणार्थी हिंदुओं के नाम पर चंदे मांग रहे थे। जब हमने इन लोगों को अपने आई कार्ड दिखाने को कहा तो यह लोग अपने पहचान पत्र दिखाने से आनाकानी करने लगे। पहचान पत्र दिखाने से मना करने पर लोगों का शक विश्वास में बदल गया कि यह लोग अवश्य ही किसी गिरोह के सदस्य हैं, जो किसी गलत इरादे से यहां पर घूम रहे हैं।

लोगों के द्वारा पूछताछ करने पर इन लोगों से नेशनल स्टूडेंट कैंप के नाम से कुछ लेटरहेड बरामद हुए हैं। इसके साथ ही इनके पास से एक सूची भी बरामद हुई है जिस पर इनको दिए गए चंदे की रकम लिखी हुई थी। बता दें कि जब लोग इनकी वीडियो बना रहे थे तो यह लोग लगातार अपना चेहरा छुपाते रहे। कैमरे से बचने का सीधा मतलब यह हैं कि यह लोग अवश्य ही किसी गिरोह का हिस्सा हैं।

https://youtu.be/iA2ygoC-Jaw
हिंदुओं का दर्द दिखाने वाली वीडियो यूट्यूब डिलीट कर देता है। वीडियो प्राप्त करने के लिए 9478215997 पे वाट्सएप कीजिए

पकड़े गए लोगों के आधार कार्ड के अनुसार इनमें से एक का नाम शब्बीर अहमद खान है जो कुलगाम के चट्टाबाल क्यू रहने वाला है। दूसरे की पहचान साजिद अहमद खान के तौर पर हुई है जोकि अनंतनाग के नरसिंहपुरा का रहने वाला है। यह भी पता चला है की पुलिस ने कश्मीरी महिलाओं को भी पकड़ा है। इस मामले में दिल्ली के कांझावाला थाने में शिकायत दर्ज करवाई गई है।

शिकायतकर्ता के अनुसार यह 6 लोगों का एक गिरोह है जो नेशनल स्टूडेंट कैंप के नाम पर लोगों से अवैध वसूली कर रहे हैं। अब कंझावाला की पुलिस इन लोगों से बारीकी से पूछताछ कर रही है।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *