The temple was set on fire, the idols were broken and thrown into the pond, the police caught Mohammad Chand.”

सारी दुनियां के मंदिर और चर्च हैं इन राक्षसों के निशाने पर और मौका मिलते ही उन्हें तोड़ देते हैं।

सनातन 🚩समाचार🌎 शास्त्रों में दर्ज विवरण के अनुसार दानव हमेशा धार्मिक लोगों को काटते मारते रहते थे, और मंदिरों को तोड़ दिया करते थे। ऐसा लगता है की शास्त्रों में वर्णित दानव आज भी धरती पर हैं। यह लोग अब भी हिंदुओं के कत्ल कर रहे हैं और उनके मंदिरों और मूर्तियों को तोड़ रहे हैं। इतना ही नहीं यह लोग ईसाइयों की चर्चों को भी तोड़ रहे हैं।

अभी पिछले दिनों मुंबई में दाऊद अंसारी नाम का व्यक्ति एक चर्च में घुस गया था जहां उसने काफी तोड़फोड़ की थी। उसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए अब फिर से एक मंदिर में घुसकर एक राक्षस ने पवित्र मूर्तियां तोड़कर तालाब में फेंक दी हैं। और पूजा सामग्री को भी आग के हवाले कर दिया है। प्राप्त हुई जानकारी के अनुसार यह घटना बिहार के दरभंगा में घटी है। यहां के विद्यालय थाना क्षेत्र के आजमनगर मोहल्ले में स्थापित मंदिर से निकलते हुए धुएं को देखकर आसपास के लोग सकते में आ गए।

जब वो दौड़कर मंदिर में गए तो देखा की मंदिर में रखी गई सारी पूजा सामग्री को आग के हवाले किया जा चुका था, जिससे धुआं उठ रहा था। पता चला है कि मोहम्मद चांद नाम का एक व्यक्ति मौका देख कर हिंदुओं के इस पवित्र मंदिर में घुस गया और वहां पर स्थापित राजा शैलेश जी की मूर्ति को तोड़ दिया और साथ ही अन्य देवी देवताओं की पवित्र मूर्तियों को खंडित करके उसने तालाब में फेंक दिया। इसके साथ ही उसने मंदिर में रखी गई पूजा की सामग्री और अन्य धार्मिक पुस्तकें भी जला दीं।

घटना 11 जनवरी 2023 दिन बुधवार की है। इस घटना की जानकारी मिलने पर मंदिर में बहुत सारे स्थानीय हिंदू इकट्ठा हो गए और रोष प्रदर्शन करने लगे। इस घटना की सूचना मिलने पर इलाका थाना अध्यक्ष सत्य प्रकाश झा भी मौके पर पहुंच गए और सारी स्थिति का मुआयना किया। इस जघन्य घटना की जानकारी मिलने पर विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता भी वहां पर पहुंच गए।

इस अवसर पर विश्व हिंदू परिषद के जिला सह मंत्री मधुकर ने रोष प्रदर्शन करते हुए पुलिस प्रशासन से मांग की, कि यह पाप करने वाले अपराधी को तुरंत गिरफ्तार किया जाए। हिंदुओं में बढ़ रहे आक्रोश को वहां पहुंचे थानाध्यक्ष ने किसी तरह से शांत किया और हिंदुओं को विश्वास दिलाया कि मंदिर का अपमान करने वाले व्यक्ति को कानून के अनुसार कड़ी सजा दिलवाई जाएगी।

इसके साथ ही मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थानीय निवासियों की सहायता से मूर्तियों को तालाब से निकलवा कर मंदिर परिसर में रखवाया जिनमें से सभी मूर्तियां खंडित अवस्था में थीं। विश्व हिंदू परिषद और स्थानीय हिंदुओं के भारी विरोध के बाद पुलिस ने जांच पड़ताल करने के बाद आरोपी मोहम्मद चांद को गिरफ्तार कर लिया है।

यहां बड़ा सवाल ये उठता है की इन राक्षसों को अन्य धर्मों के पूजा स्थल और हिंदुओं के देवी देवताओं को तोड़ने की प्रेरणा आखिर कहां से मिलती है ? ? कृपया कमेंट करके बताएं।

हिंदू खुद भी करते हैं अपने धर्म का अपमान

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *