*Neelam kept screaming in Surrey market and her hands, legs, ears and breasts kept getting cut off. Finally, the monster Shakeel was caught (Shraddha Part-2)”

शकील का ‘कर्ज’ नहीं उतार पाई तो अभागी नीलम के साथ हो गया श्रद्धा पार्ट – 2

सनातन 🚩समाचार🌎 कश्मीर में कभी हिंदू स्त्रियों को इसी तरह के काटा गया था जिस तरह से अब एक के बाद एक बेकसूर महिलाएं कट रही हैं।

3 दिसंबर, 2022 को बिहार के भागलपुर में नीलम यादव नाम की जिस महिला को काट काट कर उसकी हत्या कर दी गई थी उसके हत्यारे को पुलिस ने दबोच लिया है। पकड़े गए हैवान का नाम शकील मियां हैं। शकील को लाक्षीपुर के मोरंग बगीचे से पकड़ा गया है। इसके साथ ही इस घटना में लिप्त अन्य 4 आरोपियों को भी पकड़ लिया गया है। पकड़े गए आरोपियों में उसका भाई जदरूद्दीन भी शामिल है।

मिली जानकारी के अनुसार भागलपुर पुलिस अधीक्षक ने शकील की गिरफ्तारी के लिए 5 थानों की फ़ोर्स को लगा रखा था, और जगह जगह आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही थी। इस जघन्य हत्याकांड के बारे में भाजपा नेता निखिल आनंद ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। भाजपा नेता ने पुलिस पर आरोपियों को बचाने का गंभीर आरोप लगाया है। निखिल आनंद ने 6 दिसम्बर, 2022 को एक वीडियो जारी करते हुए कहा है कि पुलिस ने अभी तक आरोपियों की पहचान और उनकी तस्वीरें सार्वजनिक नहीं की हैं।

अपने वीडियो में निखिल आनंद ने आगे बताया कि भागलपुर के SP इस हत्याकांड में मरने वाली नीलम द्वारा आरोपि से कर्ज लेने की कहानी गढ़ रहे हैं। इस वीडियो में आगे बताया गया है कि न सिर्फ मृतका के परिजनों बल्कि आस-पड़ोस के लोगों ने भी पुलिस के इस आधारहीन दावे को नकार दिया है। घटनास्थल के आसपास की महिलाओं के बयानों का हवाला देते हुए निखिल आनंद ने कहा है कि आरोपि शकील एक आदतन अपराधी है। नेता का कहना है की आरोपी शकील का हिन्दू महिलाओं को तंग करने का पुराना इतिहास रहा है।

भाजपा नेता निखिल का ये भी आरोप है कि केस में नामजद आरोपितों का पुराना आपराधिक इतिहास भी है, जिन्हें पिछले अपराधों में भी पुलिस ने संरक्षण दिया है। बता दें कि निखिल आनंद भाजपा के OBC मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव हैं। उन्होंने अपने एक ट्वीट में ये लिखा है कि भागलपुर में एक OBC समुदाय की यादव जाति की महिला की एक मुस्लिम व्यक्ति द्वारा हत्या के मामले में स्थानीय प्रशासन भ्रम फैला रहा है। जिले के पुलिस अधीक्षक पर आरोप लगाते हुए भाजपा नेता ने कहा कि वो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दबाव में केवल अनुमान से काम कर रहे हैं।

उन्होंने आरोपि की हरकत को तालिबानी सोच वाला बताते हुए कहा है की ये मामला पूरी तरह से सांप्रदायिक है।

पुलिस द्वारा शकील को 5 दिसम्बर, 2022 सोमवार को गिरफ्तार किया गया है। और पकड़े गए सभी आरोपियों से पुलिस पूछताछ कर रही है।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *