ईई

“It’s time to re-adopt the formula our mothers adopted to escape the barbaric Mughals.”

मुगल हमारी बहन बेटियों को उठा कर ले जाते थे अब आधुनिक मुगल हिंदू लड़कियों को LOVE JIHAD करके ले जाते हैं।

सनातन 🚩समाचार🌎 ये को आजकल लगातार लव जिहाद की खबरें आ रही हैं ये कोई नई बात नही है। ये तो कई सौ सालों से हिंदुओं की बहन बेटियों के साथ हो रहा है, जो आज भी जारी है। अंतर केवल इतना है की अब जुल्म करने का तरीका बदल दिया गया है। और अब हर हाथ में मोबाइल (सनातन समाचार) है इसलिए इन बातों का हाथों हाथ सारी दुनियां को पता चल जाता है।

परंतु इस आफत का समाधान क्या है ?

जो पहले हमारी माताओं ने किया क्या वो हमे अब नहीं करना चाहिए ?

यदि इन हो रही घटनाओं पर थोड़ा नियन्त्रण स्थापित करना है तो वराहदेव की शरण ही इस समय एकमात्र साधन है… बहनों को असुरों के प्रेमजाल रूपी वशीकरण से बचाने हेतु वराह देव के तीखे दाढ़ दन्तों से बने कवच रूपी ताबीज को धारण कराने से वशीकरण कट जाता है।

हिंदू कसाई से मिलेगा

सुअरों के थूथन से दो दांत निकले होते हैं जिन्हें कुकुर दंत कहा जाता है। तंत्र क्रिया में इन्हीं कुकुरदंतों का इस्तेमाल होता है। यह किसी भी हिन्दू कसाई के यहां से प्राप्त किया जा सकता है। अमूमन तंत्रक्रिया से बचाव में स्वाभाविक मृत्यु के बाद प्राप्त किया गया सूअर का दांत ज्यादा कारगर होता है।

विशेष वीडियो

शूकर दंत लेकर वराहदेव की साधना की जाती है| वशीकरण करने एवं काटने हेतु शूकर दंत को पहले सिद्ध करना आवश्यक है, जिसकी विधि अत्यंत सरल है। होली दीपावली, दशहरा अथवा ग्रहण काल में अपने दाहिने हाथ में शूकर दंत रखें तथा 108 बार निम्नलिखत मंत्र का जाप करें :-

🚩ओम ह्रीं क्लीं श्री वाराह दंताय भैरवाय नमः

जाप पूर्ण होते ही शूकर दंत पर फूंक मारें। इस अभिमंत्रित दंत को ताबीज बनाकर धारण कर लें। इस ताबीज से वशीकरण काटने का प्रभाव उत्पन्न होता है। इस ताबीज को पहनने से यदि सामने से कोई वशीकरण मन्त्र उपयोग किया जा रहा है तो उसकी तोड़ होती है। वशीकरण के अतिरिक्त यह अभिमंत्रित ताबीज भूतप्रेत बाधा एवं आसुरी शक्तियों पर भी चमत्कारी प्रभाव उत्पन्न करता है। जब “आधुनिक असुरों” (यानी M लव j-हादी) को यह पता चलेगा, कि हिन्दू कन्या ने अपने गले में सूअर के दांतों वाला लॉकेट/ताबीज पहन रखा है, वह उस लड़की से कम से कम बीस फुट की दूरी बनाए रखेगा…

समय की आवश्यकता को देखते हुए अब हिंदुओं को अपनी बच्चियों की रक्षा के लिए इस ओर भी अवश्य ध्यान देना चाहिए।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *