After the attack on the idol immersion, now the idol of Hanuman ji has been broken, the flag was uprooted and thrown.”

श्री रामनवमी शोभायात्राओं पे हमलों के बाद अभी तक थम नहीं रहा धर्म के अपमान का सिलसिला।

सनातन 🚩समाचार🌎 श्री राम नवमी की शोभायात्रा पर हुए हमलों के बाद अभी तक लगातार उन्मादियों का कहर जारी है। आगजनी, फायरिंग, पत्थरबाजी, दुकानों, घरों को लूटना इत्यादि यह सब राष्ट्र के लिए बहुत घातक है। एक तरफ जहां बिहार के सासाराम से हिंदुओं ने हमेशा की तरह भागना चालू कर दिया है, वहीं दूसरी ओर अब झारखंड में श्री हनुमान जी की मूर्ति को खंडित कर दिया गया है जिससे तनाव बढ़ गया है।

विवरण ……….

प्राप्त हुई दुखद जानकारी के अनुसार झारखंड के साहिबगंज में पटेल चौक और पुराना सदर अस्पताल के बीच बरगद के पेड़ के नीचे स्थापित की गई श्री हनुमान जी की प्रतिमा को किसी ने खंडित कर दिया है। इस घटना में हनुमान जी की मूर्ति के सर पर आघात किया गया है। जब इस घटना की जानकारी लोगों को पता चली तो सारे इलाके में तनाव बढ़ गया, और लोग प्रतिमा खंडित करने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग करते हुए सड़क पर बैठकर धरना देने लगे।

इस घटना से फैले तनाव को देखते हुए प्रशासन के द्वारा स्कूल बंद रखने के आदेश जारी कर दिए हैं। बता दें कि हनुमान जी की प्रतिमा के सर पर प्रहार किया गया है और साथ ही कई जगहों से प्रतिमा को खंडित करने का प्रयास किया गया है। घटना की जानकारी मिलने पर विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता भी मौके पर पहुंच गए। इसके बाद आक्रोशित हिंदू समाज के लोग सड़क पर बैठकर धरना देने लगे। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी धर्मपाल लोगों को शांति और व्यवस्था बनाए रखने के लिए समझाते नजर आए।

किंतु श्री रामनवमी की शोभायात्रा ऊपर हमलों से पहले से ही आक्रोशित हुए हिंदू विश्व हिंदू परिषद के करण यादव के नेतृत्व में सड़क पे धरने पर बैठ गए। बता दें कि इस बीच पुलिस के द्वारा धरना दे रहे हिंदुओं पर लाठीचार्ज कर दिया जिससे मौके पर अफरा-तफरी मच गई। उधर पता चला है कि हनुमान जी की मूर्ति को खंडित करने वाले कुछ लोगों के सीसीटीवी फुटेज पुलिस ने प्राप्त कर लिए हैं। घटना के बारे में विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि पुलिस आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने से बच रही है।

वहीं दूसरी ओर साहिबगंज जिला प्रशासन का कहना है कि मूर्ति खंडित करने वाले आरोपियों की पहचान कर ली गई है, शीघ्र ही उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पुलिस के अनुसार इस मामले में अभी तक अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है तथा अब सीसीटीवी फुटेज मिलने के बाद आगे की जांच की जा रही है। बताने की आवश्यकता नहीं है कि इसी साहिबगंज में 1 अप्रैल 2023 को मूर्ति विसर्जन करने वाली यात्रा पर हमला भी किया गया था।

कब तक भागेगा ? कहां तक भागेगा ??

उस हमले में कई श्रद्धालुओं सहित कुछ पुलिसकर्मी भी घायल हो गए थे। और साथ ही हमला करने वालों ने एक बाइक को भी आग के हवाले कर दिया था, जिस कारण पहले से ही खराब माहौल इस घटना से और खराब हो गया है। जिसके चलते प्रशासन ने यहां 24 घंटों के लिए इंटरनेट को बंद कर दिया है।

यहां बड़ा सवाल यह पैदा होता है कि आखिर कब तक हिंदुओं की आस्था पर आघात होते रहेंगे ?, और कब तक हिंदू जालिम हमलावरों से डरकर अपने घर बार छोड़कर भागते रहेंगे ? अगर भागने का यह क्रम इसी तरह जारी रहा तो सिवाय हिंद महासागर में डूब मरने के हिंदुओं के पास और कोई भी विकल्प नहीं बचेगा। क्योंकि खत्म हो रही हिंदुओं की इस आखिरी भूमि के इलावा सारी दुनिया में और कोई भी हिंदू देश नहीं है। जहां पर हिंदू भाग कर जा सकें।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *