Sanatani is crying, secular is laughing, “Kejriwal” has hurt the hearts of many people, will you sigh now? Said “Anupam Kher.

विरोधियों के विरोध के लिए हिंदुओं के रिसते जख्मों पे नमक।

सनातन🚩समाचार🌎ना जाने ऐसा क्या कारण है की आजकल कई राजनीतिक पार्टियों के सेकुलर नेता हिंदुओं को अपना निशाना बनाते रहते हैं। और कई बार तो यह सेकुलर नेता इस हद तक हिंदुओं को अपना निशाना बनाते हैं कि हिंदू अंदर से रो देते हैं । इसी कड़ी में हिंदुओं को सता देने वाली बात की है दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने। “द कश्मीर फाइल्स” फिल्म को देखकर जहां एक और सारे देश के हिंदू स्तब्ध हैं और रो रहे हैं, वहीं केजरीवाल ने सारे हिंदू समाज के रिसते हुए जख्मों पर उस समय नमक छिड़क दिया जब उन्होंने बीजेपी को निशाना बनाते बनाते हिंदुओं के दर्द पर हस हस के उनके आंसुओं का मजाक उड़ाया।

मखौल उड़ाया है

निसंदेह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एक राजनीतिक नेता है और उन्हें दिल्ली की जनता ने वोट देकर अपना मुख्यमंत्री बनाया है। परंतु सोचने वाली बात यह है कि क्या इससे उनको हिंदुओं के आंसुओं का उपहास उड़ाने का प्रमाण पत्र मिल गया है क्या ? दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विधानसभा में जिस तरह से फिल्म और उससे जुड़े तथ्यों का मखौल उड़ाया है उससे हिंदुओं में जबरदस्त आक्रोश पाया जा रहा है। सारा सोशल मीडिया हिंदुओं के द्वारा दी गई प्रतिक्रियाओं से भरा पड़ा है। कई लोग तो सोशल मीडिया पर मर्यादा को ताक में रखकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी को गालियां तक दे रहे हैं।

दिल्ली में टैक्स फ्री

इस सबके बीच इस फिल्म से पूरी तरह जुड़े हुए और इस फिल्म के मुख्य कलाकार साथ ही कश्मीरी पंडित समुदाय से संबंध रखने वाले अनुपम खेर ने इसे बेहद शर्मनाक बताया है। बता दें कि द कश्मीर फाइल्स को दिल्ली में टैक्स फ्री करने के सवाल पर केजरीवाल ने विधानसभा में कहा था कि यह एक प्रोपोगेंडा फिल्म है। अगर इससे आम लोगों तक पहुंचाना ही है तो इसे यूट्यूब पर डाल देना चाहिए टैक्स फ्री करने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। केजरीवाल के इस बयान पर अनुपम खेर का कहना है मनोरंजन जगत की तरफ से और कश्मीरी हिंदुओं की तरफ से केजरीवाल के बयान पर उन्हें बहुत दुख हुआ है।

किस तरह की संवेदनशीलता

अनुपम खेर ने कहा है कि आपको टैक्स फ्री नहीं करना है मत कीजिए क्या आप सारी फिल्मों को यूट्यूब पर डालने की सलाह देते हैं ? 32 सालों से जिन को न्याय नहीं मिला उनके जख्मों पर नमक छिड़कना एक चीफ मिनिस्टर को शोभा नहीं देता और वे वहां स्टैंड अप कॉमेडियन जैसा कर रहे थे। वह लोगों को हंसा रहे थे। कश्मीरी पंडितों के दुख और दर्द पर हंसना, अपने भारतीय लोगों पर हंसना, जिन्होंने नरसंहार झेला है आप उन पर हंस कर किस तरह की संवेदनशीलता को प्रदर्शित कर रहे हैं ? खेर ने कहा की मुझे लगता है कि वह पंजाब में जीत गए हैं तो उनमें एक नम्रता आएगी उनमें नेशनल लीडर बनने का रुतबा आएगा वह थोड़ा अलग बनेंगे। परंतु दुर्भाग्य से वे असंवेदनशील और कठोर दिखे।

उन्होंने उन लाखों कश्मीरी हिंदुओं के बारे में नहीं सोचा जिन्हें उनके घरों से बाहर निकाल दिया गया। महिलाओं से बलात्कार हुए, पुरुषों की हत्या हुई, और केजरीवाल के बयान के दौरान उनके पीछे बैठे लोग हंस रहे थे,यह बेहद शर्मनाक है।द कश्मीर फाइल्स फिल्म को प्रोपेगेंडा और झूठ बताने पर अनुपम खेर ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह शर्मनाक है, क्योंकि उन्होंने यह फिल्म नहीं देखी है। ऐसा नहीं है कि उन्होंने पहले फिल्मों को टैक्स फ्री नहीं किया है। मुझे लगता है कि उन्होंने हाल ही में 83 फिल्मों को टैक्स फ्री किया है। यह फिल्म टेक्सफ्री से बहुत आगे बढ़ चुकी है, अब यह फिल्म एक आंदोलन बन गया है, एक मूवमेंट बन गया है। यह सारी बातें अनुपम खेर ने टाइम्स नाउ नवभारत के फ्रेंकली स्पीकिंग शो पर कहीं हैं।

https://youtube.com/shorts/QrjuxVkcouc?feature=share

ऊपर का लिंक टच करें

अनुपम खेर के अनुसार जिस तरह से इस फिल्म को लोगों का रिस्पांस मिल रहा है उससे वे अचंभित हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें कभी आशा नहीं थी कि इस फिल्म को इतना अधिक रिस्पॉन्स मिलेगा। इस फिल्म में कोई गाना नहीं है, कोई रोमांस नहीं है और ना कोई विशेष लोकेशन है। इस फिल्म में केवल अंधेरा है, दुख है, दर्द है और हताशा है। टाइम्स नाऊ के साथ बात करते हुए अनुपम खेर ने तो यह बातें कहीं हैं, साथ ही सोशल मीडिया पर भी ऐसी बहुत सारी वीडियोस लोगों ने बना बना कर डाली हैं जिन से स्पष्ट पता चलता है की सेक्युलरो को छोड़कर सभी सनातनी इस फिल्म को देख कर बहुत दुखी और हैरान हैं।

उनके हैरान होने का कारण यह है कि लगभग 32 वर्षों से उनसे वह भयानक सच छुपाया गया जो उन्हें पता चलना चाहिए था। खैर इस फिल्म के बाद अब आशा की जानी चाहिए कि बहुत सारे लोगों के दिमाग में घुसा हुआ धर्मनिरपेक्षता का विषैला कीड़ा अब इस फिल्म से निकल गया होगा।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *