“After cutting the animal on Eid in Shri Haridwar, now the Namaz read in the market, Kanwar Yatra is going on.”

ये कोई जिद है या शक्ति प्रदर्शन ? या वास्तव में अल्लाताला इसी तरह खुश होते हैं ?

पकड़े गए आरोपी

सनातन 🚩समाचार🌎 श्री हरिद्वार हिंदुओं का पवित्रतम तीर्थ स्थल है। सारी दुनिया की हिंदू यहां पर जीवन में कम से कम एक बार तो अवश्य ही पहुंच कर श्री गंगा स्नान करना चाहते हैं। ऐसे सनातनी पवित्र शहर में हो रही कुछ घटनाओं से सभी हिंदू बार-बार चौंक रहे हैं। श्री हरिद्वार में पहले श्री गंगा जी के ऊपर बने हुए एक पुल पर सर तन से जुदा वाले नारे लगाए गए, उसके बाद हाईकोर्ट के आदेश से श्री हरिद्वार जिला में ईद के मौके पर जानवर काटे गए, जबकि उत्तराखंड सरकार द्वारा इस पर पाबंदी लगाई हुई थी। और अब जबकि पवित्र श्रावण मास चल रहा है, और श्री हरिद्वार में कांवड़ियों का भी भारी रशहै। ऐसे में श्री हरिद्वार के एक बाजार में सामूहिक रुप से नमाज़ पढ़े जाने का मामला सामने आया है।

श्री हरिद्वार के बाजार में नमाज पढ़ी है

मिली जानकारी के अनुसार श्री हरिद्वार के रानीपुर क्षेत्र के शिवालिक नगर में 21 जुलाई 2022 गुरुवार की रात के समय सामूहिक रूप से नमाज पढ़ी गई है। कांवड़ मेला के अवसर पर श्री हरिद्वार के बाजार में नमाज पढ़े जाने पर स्थानीय लोगों ने भारी नाराजगी जताई हैं। बता दें कि जिन लोगों ने श्री हरिद्वार के बाजार में नमाज पढ़ी हैं वह सभी 22 से लेकर 50 वर्ष की आयु तक के लोग हैं। पुलिस ने इस घटना की पुष्टि करते हुए बताया है कि सार्वजनिक स्थल पर नवमाज पढ़ने के कारण आम लोगों के आने जाने का रास्ता अवरुद्ध हो गया था जिस कारण इन लोगों के ऊपर कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

वर्तमान समय में श्री हरिद्वार में कावड़ यात्रा चल रही है

रानीपुर कोतवाली के इंस्पेक्टर अमरचंद के अनुसार इन सभी आरोपियों पर सार्वजनिक स्थल पर लोगों के आने-जाने का रास्ता रोकने और बिना अनुमति के नमाज पढ़ने का आरोप है। जिसके चलते उन पर धारा 151 सीआरपीसी के अंतर्गत चालान करके न्यायालय में पेश किया गया है। बता दें कि वर्तमान समय में श्री हरिद्वार में कावड़ यात्रा चल रही है जिस कारण यहां पर भारी भीड़ है, ऐसे में पुलिस और अन्य सुरक्षा एजेंसियां लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति बनाए रखने के लिए पूरी तरह सतर्क हैं।

सभी लोग एक साथ इकट्ठा हो गए और बीच सड़क में नमाज पढ़ने लगे

उधर खुफिया एजेंसियों ने हिंदुओं की इस यात्रा पर आतंकी हमले की आशंका भी जताई है। एक अन्य सूत्र से मिली जानकारी के अनुसार सार्वजनिक स्थान पर रास्ता रोक कर नमाज पढ़ने वाले लोग पीठ पर सामान लादकर बाजार में बेच रहे थे थोड़ी देर बाद यह सभी लोग एक साथ इकट्ठा हो गए और बीच सड़क में नमाज पढ़ने लगे। पुलिस द्वारा शांति भंग करने की धाराओं के अंतर्गत पकड़े गए आरोपियों के नाम हैं – नसीम, निसार, सज्जाद, अहमद, मुरसलीन, अशरफ, असगर और मुस्तफा। पुलिस के अनुसार यह सभी आरोपी श्री हरिद्वार के जवाला पुर के रहने वाले हैं और इकराम श्री हरिद्वार के ही बहादराबाद कोतवाली क्षेत्र का निवासी है।

पुलिस द्वारा जारी की गई सूचना

  👉पुलिस टीम:-

1- SI अशोक रावत
2- का0 शूरवीर चौहान, 3- का0 मदन सिंह

रानीपुर_पुलिस ने एक राय होकर सार्वजनिक स्थान शिवालिक नगर पीठ बाजार में मार्ग अवरुद्ध करने पर…

1️⃣मोहम्मद निजाम निवासी मोहल्ला पांवधोई ज्वालापुर
2️⃣नसीम निवासी मोहल्ला पांवधोई ज्वालापुर
3️⃣सज्जाद अहमद निवासी मोहल्ला पांवधोई ज्वालापुर
4️⃣मुरसलीन निवासी मोहल्ला पांवधोई ज्वालापुर
5️⃣अशरफ निवासी मोहल्ला पांवधोई ज्वालापुर
6️⃣अशरफ असगर निवासी मोहल्ला पांवधोई ज्वालापुर
7️⃣मुस्तफा निवासी मोहल्ला पांवधोई ज्वालापुर व
8️⃣इकराम निवासी बढ़ेडी राजपूताना बहादराबाद

             को अन्तर्गत धारा 151 C.R.P.C. गिरफ्तार कर नियमानुसार वैधानिक कार्यवाही की गई।

ॐ नमः शिवाय

स्थानीय निवासियों के अनुसार इन लोगों ने रास्ता रोककर नमाज पढ़ने चालू कर दी थी, जिससे आने जाने का रास्ता रुक गया था। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि श्रावण मास में कांवड़ यात्रा के चलते श्री हरिद्वार में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है ऐसे में तनाव फैलने की पूरी संभावना थी। परंतु पुलिस ने तुरंत मौका पर पहुंचकर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है जिससे अब हालात सामान्य हैं।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *