“A minor Hindu girl was made pregnant by a drug addict, now she will have to marry as a Muslim.”

बचा लो हिंदुओ बचा लो, बचा लो अपनी मासूम बेटियों को शैतानों से 🙏 कब तक अपनी इज्जत नीलाम होते देखते रहोगे ? कब तक इन्हें मरती देखते रहोगे ?

सनातन 🚩समाचार🌎 यह बात समझ से परे होती जा रही है कि आखिर लगातार हिंदुओं की नाबालिग लड़कियां क्यों वहशी दरिंदों की हवस का शिकार हो रही हैं ? और क्यों हिंदू अपनी बर्बाद होती और मरती हुई बेटियों को नहीं बचा रहे हैं ?

😳😞😡😌😳

कभी कोई गोली मार देता है, कभी कोई सूटकेस में डाल कर फेंक देता है, कभी कोई गंदी नाली में फेंक देता है, कभी कोई ऊपर से गिरा कर मार देता है, कभी कोई 35 टुकड़ों में बांट देता है और कभी कोई गर्भवती करके मुसलमानी बनने के लिए मजबूर करता है। लगातार होने वाली यह घटनाएं अब थामने की बजाए और तेजी से बढ़ती ही जा रही हैं। अब नए मामले में एक 15 साल की नाबालिग हिंदू लड़की को एक मुसलमान लड़के के साथ GRP ने उस समय शक के आधार पर पकड़ लिया जब वह विदिशा से मध्य प्रदेश के सागर स्टेशन की ओर जाने के लिए पूछताछ कर रहे थे।

विवरण …………

पकड़ी गई लड़की की आयु 15 वर्ष है जो कि हिंदू हैं और उसके साथ पकड़े गए लड़के की आयु 17 वर्ष है जो कि मुसलमान है। यह दोनों भोपाल से सागर जाने के लिए निकले थे परंतु गलत ट्रेन में चढ़ जाने के कारण यह दोनों विदिशा में उतर गए थे। यहीं पर जब रेलवे पुलिस को संदेह हुआ तो उन्होंने इन्हें रोक कर पूछताछ की तो सारा मामला सामने आ गया। जीआरपी को जब इनकी कहानी का और इनकी आयु का पता चला तो उन्होंने इसकी सूचना तुरंत चाइल्डलाइन टीम को दी, और उन दोनों को उनके हवाले कर दी।

जिसके बाद चाइल्ड लाइन ने इन दोनों की काउंसलिंग की और फिर बाल कल्याण बोर्ड विदिशा के सामने उन्हें पेश किया। बाल कल्याण बोर्ड की समिति ने इन दोनों से सारी जानकारी ली और इनके परिवार वालों से भी बात की इसके बाद इन दोनों को भोपाल बाल कल्याण समिति के हवाले कर दिया गया।

लड़के की मां भी फंसा रही थी

बता दें कि चाइल्डलाइन के द्वारा की गई काउंसलिंग में लड़की ने बेहद चौंकाने वाली बातें बताई हैं। उसने कहा है कि हम दोनों एक ही मोहल्ले में रहते हैं लड़के की मां मुझ से मीठी-मीठी बातें करती थी और कहती थी कि तुम्हें मेरा बेटा बहुत पसंद करता है तुम उससे मिल लो। उसके बार-बार कहने पर नाबालिग लड़की उसके बेटे से मिल लेती थी। फिर लड़के की मां कहने लगी कि तुमसे मिलने के बाद मेरे लड़के की आदतें सुधर रही हैं, इसलिए अब तुम मेरे बेटे के साथ निकाह कर लो। निकाह के बाद मेरा बेटा चोरी करना और नशा करना बंद कर देगा।

चोर है नशेडी है

इस सब के बारे में और अधिक जानकारी देते हुए विदिशा चाइल्डलाइन कि काउंसल दीपा शर्मा ने बताया है कि जीआरपी ने हमें इन दोनों की सूचना दी थी। हमें इनकी काउंसलिंग करने पर पता चला कि लड़की की आयु 15 साल की है और लड़के की आयु 17 साल की है। यह दोनों लगभग 1 साल से आपस में संपर्क में थे। दोनों एक ही मोहल्ले के रहने वाले हैं। इस लड़की के साथ पकड़ा गया मुस्लिम लड़का ऑटो चलाता है। वह चोरी के आरोप में पकड़ा भी जा चुका है और वह नशे भी करता है।

ढाई महीने की गर्भवती नाबालिग

उन्होंने आगे बताया कि लड़की के माता-पिता अलग-अलग रहते हैं। लड़की की मां एक अस्पताल में काम करती है। उसकी अनुपस्थिति में लड़का उसके घर जाया करता था। इस सारे मामले में लड़के की मां लड़की को हमेशा प्रोत्साहित करती थी। इस सबके चलते इन दोनों के बीच संबंध भी बन गए। उन्होंने बताया है कि पकड़े जाने पर जब लड़की का मेडिकल करवाया गया तो पता चला कि वह ढाई महीने की गर्भवती है। पकड़े गए लड़के ने काउंसलिंग में बताया कि हम अपनी एक रिश्तेदार के पास सागर जा रहे थे।

जनरल रेलवे पुलिस ने पकड़ा

हम ट्रेन में बैठकर पहले इटारसी गए वहां से हमने सागर जाने के लिए गाड़ी बदली परंतु बाद में में पता चला कि जिस गाड़ी में हम सवार हैं वह सागर नहीं जाती है। इस पर हम वापस भोपाल होते हुए विदिशा पहुंच गए। स्टेशन पर उतरकर हम सागर जाने वाली गाड़ी के बारे में पता कर रहे थे तभी जीआरपी ने हमें पकड़ लिया। इनके पकड़ जाने के बारे में चाइल्डलाइन विदिशा के कोआर्डिनेटर जितेंद्र नामदेव ने बताया है कि वह अपनी टीम के साथ रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक में विजिट कर रहे थे।

खुला भेद

उसी समय भोपाल से आई हुई एक ट्रेन से एक नाबालिग लड़की और नाबालिग लड़का उतरे, जो सागर की तरफ जाने वाली गाड़ी के बारे में पूछताछ कर रहे थे। हमें उनके हावभाव देखकर संदेह हुआ। जिस पर जीआरपी के ASI मनोहर सिंह चौहान हेड कांस्टेबल शिवराज यादव ने लड़का और लड़की से पूछताछ की। इस बारे में जीआरपी के एएसआई मनोहर सिंह चौहान हेड कांस्टेबल शिवराज यादव ने बताया है, कि उन्होंने लड़का और लड़की दोनों से उनके परिजनों के फोन नंबर लिए और उनसे बात की तो उन्हें पता चला की लड़की अपनी मां की मर्जी के बिना ही वह किसी मुसलमान लड़के के साथ चली गई है।

उधर लड़के के परिजनों का कहना था कि उन्हें इस सारी घटना की पूरी जानकारी है। साथ ही लड़के की एक रिश्तेदार स्त्री को भी इस मामले की पूरी जानकारी थी जिसके बुलाने पर वह दोनों सागर में उसके पास जा रहे थे।

😳😞😡😌😳

इस मामले में बाल कल्याण समिति विदिशा के अध्यक्ष प्रेमचंद धाकड़ का कहना है कुछ लोग संगठित ढंग से बच्चों को इस तरह की सिखलाई देकर ऐसे घिनौने काम करवा रहे हैं। शीघ्र ही ऐसे लोगों की पहचान करके उन पर कठोर कार्रवाई की जानी चाहिए।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *