Wanted to kill Mahamandaleshwar ji by hiding his real identity, Aas Mohammad was caught with weapons.”
असल पहचान छिपा कर लव जिहाद, हिंदू उत्सव गरबा में असल पहचान छिपा कर घुसना और असल पहचान छिपा कर कत्ल करने के लिए मंदिर में घुसना। क्या चाहते हैं शैतान ??

सनातन 🚩समाचार🌎 उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के एक मंदिर में उस समय वहां के सेवादार एकदम से चौंक गए जब उन्हें पता चला की कोई व्यक्ति असल पहचान छुपाकर मंदिर में घुस आया है और उसके पास प्राण घातक हथियार भी हैं।

तलाशी ली तो मिले हथियार

मामला गाजियाबाद के मसूरी इलाके में पढ़ते इकला मंदिर का है। यह घुसे एक व्यक्ति पर जब मंदिर के सेवादारों को शक हुआ तो उन्होंने उसे पूछताछ की जिससे सारी घटना सामने आ गई। प्राप्त हुई जानकारी के अनुसार इकला मंदिर में जिस समय यह व्यक्ति घुसा उस समय महामंडलेश्वर प्रबोधानंद गिरि जी मंदिर में ही थे। बता दें की मंदिर में घुसने वाले व्यक्ति ने अपना नाम समीर शर्मा बताया था परंतु शक होने पर जब सेवादारों ने उसके सामान की तलाशी ली तो उसके सामान से एक चाकू एक पिस्टल और एक पेपर कटर बरामद हुआ।

असली नाम आस मोहम्मद

इसके बारे में मंदिर के सेवादारों का कहना है कि यह व्यक्ति महामंडलेश्वर जी की हत्या करने के लिए ही मंदिर में घुसा था। मंदिर के सेवादारों ने जब पकड़े गए व्यक्ति से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसका असली नाम आस मोहम्मद है और उसको सलीम नाम के एक व्यक्ति ने यहां पर भेजा है। उसने यह भी बताया कि उसके बैंक के खाते में ₹70000 आए हैं और वह उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के पल्ला गांव का रहने वाला है, तथा वो लकड़ी के काम का कारीगर है।

पेपर कटर से काटा गया था

यह सारी सूचना मिलने पर इकला मंदिर के प्रबंधकों ने हथियारों सहित मंदिर में घुसे व्यक्ति की सूचना पुलिस को दे दी, जिस पर पुलिस तुरंत मौके पर आ गई और सेवादारों द्वारा पकड़े गए आरोपी को हिरासत में ले लिया। आपको बता दें कि गाजियाबाद के ही डासना शक्ति पीठ में अगस्त 2021 को एक सोए हुए हैं साधु पर हमला करके उसे बुरी तरह घायल कर दिया गया था। उस घटना में भी पेपर कटर का ही प्रयोग किया गया था। इस घटना के बारे में डासना शक्तिपीठ के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरी जी का कहना है कि जिहादियों द्वारा कमलेश तिवारी जी की हत्या कर दी गई और अब इन लोगों ने उत्तर प्रदेश में साधुओं को खत्म कर देने का अभियान चलाया हुआ है।

पहले भी हत्या के प्रयास हो चुके

इसके बारे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को तुरंत ध्यान देना चाहिए। इकला मंदिर में पकड़े गए इस व्यक्ति के बारे में महामंडलेश्वर प्रबोधानंद गिरि जी ने कहा है की समीर शर्मा बनकर आया हुआ आस मोहम्मद मुझे मार देने के इरादे से ही मंदिर में आया था। उन्होंने और बताया कि इससे पहले भी मेरी हत्या के प्रयास किए जा चुके हैं। इस घटना में अगर सेवादारों ने उसे संदिग्ध व्यक्ति को ना पकड़ा होता तो निश्चित ही आस मोहम्मद मुझे मार देता। पुलिस को इस मामले में गंभीरता पूर्वक संज्ञान लेना चाहिए।

इस हुए घटनाक्रम के बारे में पुलिस ने मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए इस बारे में खुफिया विभाग को भी सूचना दे दी। एसपी ग्रामीण ने इस बारे में बताया है कि इकला मंदिर में एक संदिग्ध व्यक्ति के पास आपत्तिजनक सामान मिलने की सूचना प्राप्त हुई थी। पुलिस उसे हिरासत में लेकर उससे पूछताछ कर रही है। अभी तक मंदिर में आने का उसके आने का कोई स्पष्ट कारण पता नहीं चला है।

उन्होंने आगे बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से अब मंदिर में हर आने जाने वाले श्रद्धालुओं की चेकिंग की जाएगी। अब बिना चेकिंग के किसी भी को भी मंदिर में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *