“The pot of sins of the pastor’s family exploded, the minor, the Dalits were converted to Christianity by fraud, the Dalit girl was raped, the police sent the pastor’s family to jail.”

ये हिंदू धर्मगुरुओं की ही असफलता है जो अपनी जड़ों से कमजोर हुए हिंदू आसानी से धर्मांतरित करवा लिए जाते हैं।

सनातन 🚩समाचार🌎 इस बात में कोई संदेश नहीं है कि वर्तमान में हर कोई हिंदू के पीछे हाथ धो कर पढ़ा हुआ है। हिंदू लड़कियों के साथ लाल जिहाद, मंदिरों मूर्तियों का तोड़ा जाना और लालच देकर हिंदुओं को इसाई बनाना अब आम बात हो चुका है।

नई घटना के बारे एक पादरी उसकी पत्नी और उसके बेटे को पुलिस ने पकड़ कर जेल भेज दिया है। क्योंकि उन पर आरोप है कि उन्होंने धोखे से दलित समाज के लोगों को इसाई बना दिया उनके घरों से उनके देवी देवताओं की मूर्तियों को हटवा दिया और साथ ही उनके लड़के ने एक नाबालिग दलित लड़की के साथ जबरन बलात्कार भी कर दिया। इस पादरी परिवार के द्वारा लगातार दलितों के साथ की जा रही धोखाधड़ी और उनकी लड़की के साथ बलात्कार होने के बाद दलित समुदाय के एक व्यक्ति ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवा दी।

जिस पर ये सारा परिवार अब सलाखों के पीछे है। ये घटना कर्नाटक के बेल्लारी इलाके की है यहां पर दलित समुदाय के लोगों को जबरन और धोखे से इसाई बनाने का मामला सामने आया है। प्राप्त विवरण के अनुसार बेल्लारी के कोपल में एक पादरी सत्यनारायण/,सैमुअल अपने घर में प्रार्थना घर चलाता है, वह लोगों को वर्गलाकर कर लालच देकर गरीब दलितों का धर्मांतरण करवाता है। पुलिस को दी गई शिकायत में आरोप लगाया गया है कि सैमुअल नाम का ये पादरी लोगों को भ्रमित करके अपने घर में बनी चर्च में ले गया और उन्हें धोखे से ईसाई बना दिया।

इसके बाद पादरी और उसका परिवार लोगों को विवश करने लगा कि तुम लोग इसाई मत के अनुसार प्रार्थना किया करो। शिकायतकर्ता के अनुसार पादरी और उसका परिवार दलित समुदाय के लोगों को कहता है की हिंदू देवी देवताओं की पूजा ना करो। इसके लिए वो लोगों को धमकाता है। इतना ही नहीं वो हिंदुओं के घरों से देवी-देवताओं की मूर्तियां और चित्र भी उठाकर ले गया, और उन्हें एक नहर में और इधर-उधर फेंक दिया।

शिकायतकर्ता के अनुसार पादरी कहता हैं कि अगर तुम लोगों ने हिंदू देवी देवताओं की पूजा की तो तुम्हें शैतानी शक्तियां परेशान करेंगी। उसने पादरी की पत्नी पर आरोप लगाया है कि वह दलितों के बच्चों को बहका कर चर्च मे ले जाती हैं और उनसे जबरन वहां की सफाई इत्यादि करवाती है। पीड़ित ने यह भी आरोप लगाया है कि जब उसने इस पादरी परिवार की करतूतों के बारे में अपने मुखिया लोगों को बताया तो इस फादरी परिवार ने गाली-गलोच करते हुए उसके साथ मारपीट भी की।

अवश्य देखें

इस पादरी परिवार की करतूतों का पर्दाफाश शायद ना भी होता, परंतु जब पादरी के बेटे ने दलित समुदाय की एक लड़की के साथ बलात्कार कर दिया तब सभी लोग इनके खिलाफ एकजुट हो गई और पुलिस में इसकी शिकायत करदी। पुलिस ने शिकायत मिलने पर पादरी के लड़के के खिलाफ बलात्कार का केस और पादरी और उसकी पत्नी के खिला अलग से केस दर्ज कर लिया।

इस के बाद पुलिस ने इस पादरी परिवार को गिरफ्तार करके अदालत में पेश कर दिया जहां से उन उन के बेटे को जेल भेजा गया और पादरी को उसकी पत्नी सहित न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

देखा जाए तो इन सब के पीछे एक ही बात दिखती है कि अगर हिंदू को उनके धर्मगुरुओं ने पने धर्म के प्रति जागरूक रहने की प्रेरणा दी होती तो आज यह सब हिंदुओं के साथ ना हो रहा होता जो हो रहा है।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *