The main person who fought the case against Shri Ram Temple received the invitation for consecration.”

बाबरी के पक्षधर और श्री राम मंदिर के खिलाफ अदालत में हिंदुओं से लड़ रहे मुख्य पक्षकार का नाम है इकबाल अंसारी।

सनातन🚩समाचार🌎 ज्यों ज्यों अयोध्या जी में बने भव्य मंदिर में भगवान श्री राम जी के स्वरूप की प्राण प्रतिष्ठा करने का समय नजदीक आ रहा है त्यों त्यों बहुत सारी नई-नई खबरें पता चल रही हैं। एक तरफ जहां भगवान श्री राम और श्री राम मंदिर का घोर विरोध करने वाले लोगों को पहले ही निमंत्रण भेजे जा चुके हैं। वही अब बाबरी ढांचे के प्रबल पक्षधर और श्री राम मंदिर के विरोध में हिंदुओं के साथ अदालतों में केस लड़ने वाले मुख्य व्यक्ति इकबाल अंसारी को भी श्री राम लाल की प्राण प्रतिष्ठा में सहभागी होने का निमंत्रण भेज दिया गया है।

अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर का प्रबंधन देखने वाले श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने 22 जनवरी को होने वाले दिव्य प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए बाबरी मस्जिद के मुख्य पक्षकार रहे इकबाल अंसारी को निमंत्रण भेजा है। इकबाल अंसारी के अब्बू हाशिम अंसारी श्री राम जन्मभूमि स्वामित्व विवाद में मुख्य वादी थे। उन्होंने अपने अब्बू के इंतकाल के बाद सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद की कानूनी लड़ाई जारी रखी।

सर्वविदित है की 9 नवंबर 2019 को एक ऐतिहासिक निर्णय में शीर्ष अदालत ने राम जन्मभूमि स्थल का स्वामित्व हिंदू पक्ष को सौंपने का फैसला सुनाया। इकबाल अंसारी ने अदालत के फैसले का स्वागत किया था और सैकड़ों वर्ष पुराने इस विवाद का पटाक्षेप करने पर बधाई दी थी। उन्होंने कहा था कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शहर के विकास में एक नए अध्याय की शुरुआत करेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 दिसंबर को जब अयोध्या दौरे पर गए थे तब उन्होंने वहां एक रोड शो भी किया था। बतादें की इस दौरान इकबाल अंसारी ने पीएम मोदी पर फूल बरसाए थे। इस बारे में  मीडिया से बात करते हुए  इकबाल अंसारी ने कहा था कि अयोध्या आने वाला कोई भी व्यक्ति हमारा मेहमान है। उनका अभिनंदन करना हमारा फर्ज है। इकबाल अंसारी के अनुसार  वह 22 जनवरी 2023 को रामलला के प्रतिष्ठा समारोह का हिस्सा बनना चाहेंगे।

श्री राम श्री राम

पीएम मोदी ने 30 दिसंबर 2023 को ही अयोध्या धाम जंक्शन रेलवे स्टेशन और महर्षि वाल्मीकि इंटरनेशनल एयरपोर्ट का लोकार्पण किया था। अब वह 22 जनवरी 2024 को रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होने के लिए मुख्य यजमान के रूप में अयोध्या पहुंचेंगे। इस कार्यक्रम को भव्य बनाने के लिए अयोध्या जी को पूरी तरह से सजाया जा रहा है।

एक तरफ जहां अयोध्या नगरी में श्री राम लला जी अपने मंदिर में विराजमान होने वाले हैं तो वहीं दूसरी ओर बहुत सारे साधु सन्यासी और धर्माचार्य इस बात को लेकर आपत्ति जाता रहे हैं कि शास्त्र के अनुसार कोई भी पूजा अनुष्ठान तभी सफल होता है जब यजमान उसमें अपनी  पत्नी सहित सहभागी बने। किंतु देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी इस प्राण प्रतिष्ठा समारोह में बिना पत्नी के ही शामिल होंगे।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *