Mathura: Tomb built in the land of Bihari ji temple, SP leader Bhola Khan Pathan wants to build a graveyard.”

लैंड जिहाद – कागजों में हेर फेर करके मंदिर की जमीन को कब्रिस्तान बता दिया।

Land Jihad

सनातन 🚩समाचार🌎 मुस्लिम समुदाय का कोई व्यक्ति अपनी असल पहचान छुपाकर किसी हिंदू लड़की को अपने प्रेम जाल में फंसाता है तो लोग उसे लव जिहाद कहते हैं, तथा इसके साथ ही अब देश में थूक जिहाद, रेप जिहाद इत्यादि कई तरह के नाम लिए जा रहे हैं। इन सबके बीच लैंड जिहाद शब्द भी बहुत बार प्रयोग किया जा रहा है। ताजा/पुरानी घटना लैंड जिहाद की ही है, क्योंकि इस मामले में एक प्राचीन मंदिर की भूमि को जालसाजी करके कागजों में कब्रिस्तान की भूमि बता दिया गया और फिर उसके ऊपर मजार भी बना दी गई।

कब्रिस्तान के नाम पर दर्ज करवा दिया

प्राप्त हुई जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के मथुरा के कोसीकला थाना क्षेत्र में श्री बिहारी जी का एक प्राचीन प्रसिद्ध मंदिर है। यहां पर मजार बनाए जाने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है की जमीन पर कब्जा करने की इस साजिश में सपा का एक नेता भी शामिल है, जिसने मंदिर की इस जमीन के कागजों में हेराफेरी करके उसे कब्रिस्तान के नाम पर दर्ज करवा दिया था। मंदिर के कागजों में यह हेरा फेरी सन 2004 में की गई थी। इसके बाद मंदिर की जमीन पर कब्जा करने के लिए लगभग 15 साल तक प्रतीक्षा की गई। जालसाजी का पता लोगों को तब चला जब मुस्लिम समाज के लोग मंदिर की भूमि पर कब्जा लेने के लिए पहुंच गए।

बिहारी जी महाराज सेवा ट्रस्ट” की भूमि

इस बारे में ग्रामीण राम अवतार सिंह ने शिकायत दी थी। जिसके बाद की गई जांच पड़ताल में यह पाया गया की मंदिर की इस जमीन को जालसाजी करके कब्रिस्तान के नाम पर तब्दील कर दिया गया था। पता चला है कि शाहपुर गांव के 2004 में उस समय के ग्राम प्रधान और सपा नेता भोला खां पठान ने लेखपाल के साथ मिलीभगत करके “बिहारी जी महाराज सेवा ट्रस्ट” की इस भूमि के कागजों में फेरबदल किया था तथा इसे कब्रिस्तान के नाम पर दर्ज करवा दिया था। उसने अपने लेटर पैड पर कुछ ग्रामीणों के भी नकली हस्ताक्षर भी करवाए थे। उस हेरा फेरी के बाद अब लगभग 15 सालों के बाद यह जालसाजी सामने आई है।

सिंहद्वार को तोड़कर वहां मजार बना दी

बता दें कि उचित रखरखाव के अभाव के चलते बिहारी जी का मंदिर लगभग खंडहर हो चुका है। इस मंदिर परिसर में 15 मार्च 2020 की रात को हनीफ खान, इदू, नासिर पठान, अशफाक, शहीद, सलीम, जमाल, रिजवान, सुलेमान, अख्तार, जमाल, जाहिरा ,अजीज, मुस्ताक, शकील, शाहिद और जमील सहित 30 लोगों ने मंदिर के सिंहद्वार को तोड़कर वहां मजार बना दी थी। इसके साथ ही इन लोगों ने वहां पर बने हुए प्राचीन कूऐं को भी तोड़फोड़ दिया था। जब गांव के लोगों ने उनका विरोध किया तो इन लोगों ने मंदिर के जमीन को अपने कब्रिस्तान की जमीन बताया था। तब इन लोगों ने तत्कालीन अफसरों को 2 सितंबर 2004 में बदले गए खसरा नंबर के संबंधित कागजात दिखाकर धोखा दिया था।

प्रमाणित हो गया कि यह जगह बिहारी जी के मंदिर की ही है

इन लोगों ने कागजों में खसरा नंबर 108 को 1081 कर दिया था। इस बारे में शिकायत करता रामावतार सिंह का कहना है कि दिसंबर 2004 में प्रशासन ने अपर वक्फ आयुक्त से भी इस बारे में जानकारी मांगी थी तो उन्होंने भी बताया था कि यह जमीन वक्फ कार्यालय में रजिस्टर्ड नहीं है। इसके बाद बहुत सारी जांच के बाद यह प्रमाणित हो गया कि यह जगह बिहारी जी के मंदिर की ही है। राम अवतार सिंह ने आगे बताया कि हम लोग चाहते हैं कि जल्द से जल्द यह जगह हिंदू समाज को सौंप दी जाए और यहां पर बनी हुई है अवैध मजार को हटा दिया जाए ताकि हम यहां पर बिहारी जी का भव्य मंदिर बना सकें।

📸 देखें

मंदिर की भूमि पर धोखाधड़ी करके कब्जा करने के मामले में अब सपा नेता सहित 23 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। इससे सारे प्रकरण के बारे में एसपी ग्रामीण श्री चंद ने बताया है कि तत्कालीन सपा अध्यक्ष भोला खां पठान, तहसीलदार शौकत, अहमद, यूसुफ, लुकमान, अजीज, नासिर पठान, नवाब कुरैशी, अशरफ, एहसान, इमरान, हनीफ, जफर, सलीम, शमशाद, असगर, शकील और नवाब खान सहित 23 लोगों के खिलाफ एफ आई आर दर्ज की गई है। उन्होंने बताया है कि इन सभी आरोपियों को जल्दी ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *