अपने इष्ट आराध्य को सदैव वही चीज वस्तु भेंट करें जो उन्हें सर्वाधिक प्रिय हो।

सनातन🚩समाचार🌎: समस्त सनातनियों को जय माता दी। मां भगवती आदिशक्ति के भक्तों आप सभी सनातनी मां के पुजारी हैं। मां दुर्गा जी को मानते हैं। आप में से सभी मा दुर्गा जी के किसी ना किसी सिद्ध स्थान पर अवश्य ही जाते हैं जोकि बहुत सराहनीय कार्य है। हमें आदि शक्ति का आश्रय लेना ही चाहिए और उन मां भगवती का स्मरण और आराधन करना ही चाहिए परंतु जरा यह भी विचार करें कि क्या मां भगवती की पूजा आरती करना उसके सामने घंटी घड़ियाल बजाना ही काफी है ? या कुछ और भी उचित है ??

शस्त्र

आप निश्चित ही नवरात्रों के व्रत भी रखते होंगे फिर अष्टमी या नवमी को कंजक पूजन भी अवश्य करते होंगे, परंतु क्या आपने कभी यह विचार किया कि आप पर आपकी मां भगवती किस प्रकार प्रसन्न होंगी ? क्या आपने कभी अपनी आराध्य देवी को वह वस्तु भेंट की है जो उन्हें सबसे अधिक प्रिय है ? शायद नहीं. आपने इस पर विचार भी नहीं किया होगा, तो आइए इस पर विचार करते हैं कि हमारी मां जगदंबा को सर्वाधिक क्या पसंद है और उन्हीं क्या भेंट करना चाहिए। मां के भक्तों आप जब भी मां भगवती के किसी भी स्वरूप का दर्शन करते हैं तो आपको आदिशक्ति के हाथों में सदैव कोई ना कोई शस्त्र तो दिखाई देते ही हैं।

सिंह वाहिनी

भक्तजनों आप अगर मां भगवती के दुर्गा सप्तशती का जप पाठ करते हैं तो उसमें भी आप यही पाते हैं कि जब जब भक्तों ने मां को याद किया, उन्हें पुकारा, उनका आव्हान किया तब तब मां जगदंबा ने प्रकट होकर अपने भक्तों के शत्रु का सर्वनाश कर दिया। बंधुओं क्या कभी आपने ध्यान दिया कि जब जब भी मां प्रकट हुई वह खाली हाथ प्रकट नहीं हुई। उनके हाथों में अनेक प्रकार के अस्त्र-शस्त्र थे। सिंह वाहिनी हो, भगवती काली हो, चंडी चामुंडा अथवा किसी भी स्वरूप में मां का प्राकट्य हुआ हो वह हमेशा शस्त्र धारिणी ही दिखाई देती हैं।

स्तुति वंदना

और इन सभी शास्त्रों में से अगर आप देखें तो मां के प्रत्येक स्वरूप में भगवती जी के हाथों में खडक यानी तलवार तो अवश्य दिखाई देती है। तो क्या ऐसे में हमारा आपका यह कर्तव्य नहीं बन जाता है कि हम जब भी मां की स्तुति वंदना करें ? तो आज से ये प्रण लें कि जब जब भी आप अपनी इष्ट देवी माँ दुर्गा जी के किसी मन्दिर में जाएं, उनकी पूजा अर्चना करें उनका जागरण करें करवाएं तब तब उनको उनकी सबसे प्रिय वस्तु तलवार अवश्य भेंट करें।


सनातनी बंधुओं मां भगवती को तलवार भेंट करना पूर्णतयः शास्त्र सम्मत भी है क्योंकि यह अकाट्य सिद्धांत है कि जब भी आप किसी को प्रसन्न करना चाहें तो उसे उसकी सबसे प्रिय वस्तु अवश्य भेंट करें।

बहुत अच्छी बात

जय कारा शेरां वाली का, बोल साचे दरबार की जय”

🚩जय माता दी🙏

Jai Mata Di🙏What to offer to Mother Bhagwati? that he may be pleased with you

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *