“If you are a Muslim, then you can read Namaz in a moving train with pleasure, but if you are a Hindu and in the train, then.”

चौंकिए नहीं ये कोई बड़ी बात नहीं है क्योंकि आप एक सेकुलर देश के वासी हैं।

सनातन 🚩समाचार🌎 सड़कों को घेर कर नमाज पढ़ी जा सकती है या नहीं यह सरकार का काम है सरकार देखे। कानून का विषय है तो अदालतें देखें। इसके साथ ही अगर चलती ट्रेन में रास्ता रोककर नमाज पढ़ी जाए तो वह कानून का उल्लंघन है या नहीं यह सरकार देखें अथवा रेल मंत्रालय। परंतु तब क्या किया जाए जब चलती ट्रेन में सह यात्रियों के आने जाने का रास्ता रोककर नमाज पढ़ी जाए और उसके बाद नमाजियों को तो कुछ ना कहा जाए किंतु अगर कोई हिंदू वहीं बैठ कर अपने धार्मिक मंत्रोच्चारण करने लगे तो उसकी पिटाई की जाए।

सह यात्रियों की सुविधा का ध्यान नहीं

तब निश्चित ही यह सोचा जाना चाहिए की क्या चलती ट्रेन में नमाज पढ़ना उचित है? और किसी हिंदू के द्वारा पूजा अर्चना करना अनुचित है ? सड़कों पर बैठकर और कभी कभार लोगों के घर में घुसकर तो नमाज पढ़ने की खबरें आती ही रहती हैं, परंतु अब इस तरह की खबरें भी सामने आने लगी हैं जिनमें सह यात्रियों की सुख सुविधा को धत्ता बताते हुए ट्रेन में बीचों बीच बैठकर नमाज पढ़ी जा रही है।

पूजा करने पे पीट डाला

इसी के चलते उस समय एक पूर्व सैनिक की बेतहाशा पिटाई कर दी गई जब वह नमाजियों द्वारा नमाज पढ़ने के बाद उन्हीं की तरह रेल के डिब्बे में नीचे बैठकर अपने हिंदू धर्म के मंत्रोच्चारण करने लगा। यहां गौर करने वाली बात यह है कि इस हिंदू पूर्व सैनिक को अपने धर्म के अनुसार पूजा अर्चना करने पर ट्रेन के पैंट्री कार के मैनेजर और उसके साथियों ने रोका। न केवल रोका बल्कि उसके साथ बुरी तरह मारपीट भी की गई है, जबकि नमाजियों को उन्होंने कुछ भी नही कहा।

बाथरूम नहीं जाने दिया

प्राप्त जानकारियों के अनुसार रेलगाड़ी में मंत्रोचार करने के अपराध में पूर्व सैनिक विलास नाईक की पिटाई की गई है। घटना रविवार की है जब कुछ लोग सामूहिक रूप से चलती गाड़ी में नमाज पढ़ने के लिए बीच बने रास्ते में बैठ गए। उन्होंने ऐसा 3 बार किया परंतु इस बीच जब पूर्व सैनिक ने उनसे कहा कि उसे बाथरूम जाना है तो उसे नहीं जाने दिया गया। पूर्व सैनिक के अनुसार उन्हें बाथरूम जाने की बहुत ज्यादा आवश्यकता थी जिस पर मैं अपनी पीड़ा से ध्यान हटाने के लिए अपने धर्म के मंत्रोच्चारण करने लगे इस पर नमाजियों ने उन्हें वहां से हटने के लिए कहा।

पेंट्री वालों को गुस्सा आया तो

पता चला है कि इसी दौरान पैंट्री कार वाले आ गए और पूर्व सैनिक से उलझ पड़े। इस पर पूर्व सैनिक विलास नाईक ने पूछा कि अगर चलती गाड़ी में नमाज पढ़ी जा सकती है तो वह मंत्रोच्चारण क्यों नहीं कर सकता ? इस पर गुस्साए पैंट्री कार वालों ने मिलकर पूर्व सैनिक के साथ मारपीट करके उसे घायल कर दिया। बता दें की पूर्व सैनिक नई दिल्ली, हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन से विशाखापट्टनम की ओर यात्रा कर रहे थे। वह ट्रेन नंबर 12804 के स्लीपर क्लास के एस – 4 डिब्बे में यात्रा कर रहे थे।

मुस्लिमों ने 3 बार नमाज पढ़ी

कुछ मुस्लिम लोग भी इसी डिब्बे में यात्रा कर रहे थे। नाइक का कहना है की यात्रा के दौरान मुस्लिम लोगों ने तीन बार नमाज पढ़ी। जब मैंने उन्हें कहा कि मुझको बाथरूम जाना है तो उन्होंने मुझे जबरन रोक दिया। इस पर मैंने अपने धर्म के मंत्रों का उच्चारण शुरू कर दिया तो पैंट्री कार वालों ने आकर मुझसे मारपीट की। आधे घंटे तक चले इस वाद विवाद में पैंट्री मैनेजर सर्वेश श्रीवास्तव ने अपने साथियों को बुलाकर पूर्व सैनिक की पिटाई कर दी। इस हुई घटना के बारे में जब पूर्व सैनिक विलास नाईक ने गाड़ी के चल साथ चल रहे हैं स्टाफ को बताया तो उन्होंने कहा कि अगले स्टेशन पे गाड़ी रुकने पर इस बारे में कार्रवाई की जाएगी।

सैनिक घायल

इसके बाद मारपीट करने वाले पेंट्री के स्टाफ और पूर्व सैनिक को बैतूल रेलवे स्टेशन की जीआरपी के द्वारा उतार लिया गया। इस बारे में पेंट्री मैनेजर का कहना है कि उन्होंने पूर्व सैनिक के साथ कोई मारपीट नहीं की है वहीं दूसरी ओर नाइक नाम का पूर्व सैनिक मारपीट से लहूलुहान हुआ दिखाई दे रहा है। पता चला है की इस ट्रेन में यात्रा कर रहे हैं मुसाफिर अहमद नाम के एक यात्री ने माना है की चलती गाड़ी में नमाज पढ़ी गई है, उसने यह भी माना है जब नमाज पढ़ी जा रही थी तो नाईक शौचालय की ओर जाने की जिद कर रहे थे।

मौके की वीडियो

बैतूल स्टेशन की जीआरपी चौकी के इंचार्ज NS ठाकुर के अनुसार पैंट्री कार के मैनेजर और उसके साथियों के खिलाफ IPC की धारा 322, 34 और 294 के अंतर्गत एफ आई आर दर्ज कर ली गई है।

इस मारपीट बारे में रेल सुरक्षा बल नागपुर डिवीजन के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर के इस घटना की पुष्टि की है। घटना के कारण बैतूल रेलवे स्टेशन पर यह रेलगाड़ी लगभग 18 मिनट तक रुकी रही। इस घटना की पूर्व सैनिक विलास नाईक नाम के पूर्व सैनिक ने शिकायत की है। जिस पर पैंट्री कार मैनेजर और उसके दो वेंडर पर मामला दर्ज कर लिया गया है और आगे की जांच जारी है।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *