सनातन समाचार की निशुल्क ज्योतिष सेवा

Hindus were being converted to Christianity for years, calling idols devils, the priest was caught along with 2 companions.”
हिंदू आराध्यों की मूर्तियों को शैतानों की मूर्तियां बता कर भोले भाले लोगों को बनाते हैं अपना शिकार।

सनातन 🚩समाचार🌎 भ्रमित करके लालच देकर हिंदुओं को धर्मांतरित करके ईसाई बना देने की घटनाएं अब कोई नई बात नहीं रह गई है। अक्सर ऐसे मामले सामने आते ही रहते हैं।

अब 1 नए मामले में अपने दो साथियों सहित एक पादरी को इसलिए गिरफ्तार किया गया है क्योंकि उस पर आरोप लगा है कि वह धन का लालच देकर हिंदुओं को इसाई बना रहा था। और साथ ही वह हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियों को शैतानों की मूर्तियां बताकर उन्हें घर से बाहर फेंकने को कह रहा था। यह घटना घटी है 5 जनवरी 2023 को।

प्राप्त हुए विवरण के अनुसार मध्यप्रदेश के भोपाल के रातीबड़ इलाके से के केकड़ीया गांव के एक घर में जनजातीय वर्ग के लगभग 40 लोगों को इकट्ठा करके उन्हें ईसाई बनाया जा रहा था। इस बारे में गांव के सरपंच ने हिंदू टाइगर फोर्स के लोगों से संपर्क किया और उन्हें अपने गांव में हो रहे धर्म परिवर्तन के बारे में बताया। सूचना मिलने पर हिंदू टाइगर फोर्स के लोग गांव में पहुंच गए और वहां चल रहे धर्मांतरण के खेल को का विरोध किया।

इस पर वहां उनकी तीखी नोकझोंक हुई और थोड़ी बहुत हाथापाई भी हुई। इस बारे में हिंदू टाइगर फोर्स के प्रदेश अध्यक्ष देवेंद्र सिंह तोमर ने आरोप लगाया है कि हिंदू नाम वाला ईसाई पादरी हीरालाल जामोद अपने घर में पिछले कई सालों से जनजातीय समाज के लोगों को इकट्ठा करके उनका धर्म परिवर्तन करने में लगा हुआ था। जब हम इस पादरी के घर में पहुंचे तो वहां पर हमें 40 से अधिक लोग मिले। यह सभी लोग इसाई मत से संबंधित कुछ गाने गा रहे थे।

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि यहां पर हिंदू धर्म के खिलाफ असहनीय बातें भी की जा रही थी। और हिंदुओं को अपना धर्म त्याग कर ईसाई बनने के लिए प्रेरित किया जा रहा था। उन्हें कहा जा रहा था कि हिंदू देवी देवताओं की मूर्तियां वास्तव में शैतानों की मूर्तियां हैं इन्हें घर से बाहर फेंक दो और पूजा पाठ करना बंद कर दो। बताया गया है कि इस गांव में धर्म परिवर्तन का यह खेल लगभग 5 सालों से चल रहा है। पादरी के ठिकाने पर पहुंचे हिंदू टाइगर फोर्स के लोगों के साथ वहां पादरी के लोगों ने धक्का-मुक्की की तो इसी बीच सूचना मिलने पर पुलिस भी वहां पर पहुंच गई।

उधर गांव के सरपंच डालचंद बंजारा ने कहा है कि पादरी हीरालाल जामोद के खिलाफ 5 साल पहले भी लोगों को धर्मांतरित करने के बारे में पुलिस में शिकायत की गई थी। परंतु तब उसके खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई थी। इस ताजा घटनाक्रम के बारे में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त श्रुतकीर्ति सूर्यवंशी ने कहा है कि मिली शिकायत के अनुसार यहां पर धर्म परिवर्तन के लिए महिलाओं को निशाना बनाया जा रहा था।

शिकायत मिलने पर मध्य प्रदेश पुलिस ने धर्म स्वातंत्र्य अधिनियम 2019 के अंतर्गत मामला दर्ज कर लिया है। जिसमें केकड़ीया गांव में हीरा लाल जामोद, हेम सिंह और गब्बर सिंह को आरोपी बनाते हुए गिरफ्तार कर लिया गया है।

अब इस बात का पता लगाया जाएगा कि अब तक आरोपी पादरी के द्वारा कितने लोगों को इसाई बनाया गया है और इस काम के लिए उसे कहां से फंडिंग आ रही थी ? जांच पूरी होने के बाद आरोपियों के खिलाफ बनती कार्रवाई की जाएगी।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *