भगवान श्री राम जी को चमड़े की बेल्ट पहना के हनुमान जी को दाड़ी वाला परंतु मूंछ रहित चित्रण के खिलाफ लखनऊ में शिकायत और दिल्ली में केस


“Complaint in Lucknow and case in Delhi against depicting Lord Shri Ram ji wearing a leather belt with a beard but without a mustache.”

रावण ने निस्संदेह अनुचित कार्य किया था परंतु वो कोई टपोरी छपरी और मुकुट रहित नहीं था जैसा अदिपुरुष में दिखाया गया है।

सनातन 🚩समाचार🌎 बॉलीवुड अब अपनी पूरी शक्ति से हिंदुओं के पीछे पढ़ चुका है। जिसके प्रमाण अब हर उस फिल्म में दिखने लगे हैं जो रिलीज होने वाली हैं। परंतु यह अच्छी बात है कि अब सारा हिंदू समाज इनके एजेंडे को समझ गया है, और इनको आर्थिक चोट पहुंचाने के लिए इनकी फिल्मों का एक के बाद एक इनका बायकॉट कर रहा है।

सनातन समाचार ने भी एक्शन लिया है

हिंदुओं के धर्म और आस्थाओं का अपमान करने का बॉलीवुड का बहुत पुराना एजेंडा है। परंतु अब जब पानी सिर से ऊपर पहुंच गया है तो हिंदू भी अब प्रतिकार करने लगे हैं, और इन फिल्मों के बहिष्कार के साथ-साथ इनके ऊपर अदालतों में केस भी करने लग गए हैं। आने वाली फिल्म आदि पुरुष के खिलाफ भी दिल्ली की अदालत में याचिका दायर कर दी गई है।स्वयं “सनातन समाचार” ने भी थैंक गॉड फिल्म के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई हुई है, और शीघ्र ही उसके खिलाफ अदालत में केस दायर किया जाएगा।

गौरवपूर्ण हिंदू शास्त्रों का अपमान

और इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के लखनऊ में भी आदिपुरुष फिल्म के खिलाफ शिकायत दर्ज करवा दी गई है। बताने की आवश्यकता नहीं है कि हिंदूद्रोह के एजेंडे के चलते इस फिल्म में भी हिंदुओं के गौरवपूर्ण शास्त्रों में वर्णित भगवान श्री राम, श्री हनुमान जी के बारे में तो गलत चित्रण तो किया ही गया है, इसके साथ ही इस फिल्म में रावण को भी गलत ढंग से दिखाया गया है। यहां सबसे दुखद बात यह है कि इस फिल्म में भगवान श्री राम जी को और हनुमान जी को एक ऐसी बेल्ट पहने हुए दिखाया गया है जो देखने में चमड़े की बेल्ट जैसी ही लग रही है। बतादें की यूट्यूब पर इस फिल्म का टीजर रिलीज होते ही हिंदुओं का गुस्सा अब सातवें आसमान पर हैं।

चमड़े की बेल्ट पहना दी गई है

जिसके चलते दिल्ली की एक अदालत में फिल्म आदि पुरुष के रिलीज पर रोक लगाने हेतु याचिका दायर कर दी गई है। इस याचिका में आरोप लगाया गया है कि भगवान राम और हनुमान जी को चमड़े की पट्टियां बनाकर एक अनुचित और गलत करेक्टर के रूप में दिखाया गया है। इसके साथ ही रावण का चित्रण भी बहुत गलत ढंग से किया गया है। एक तरफ जहां सोशल मीडिया पर इस फिल्म का विरोध हो रहा है वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के लखनऊ में भी इस फिल्म के खिलाफ एक शिकायत दर्ज करवा दी गई है।

श्री राम मंदिर के मुख्य पंडित जी

इस शिकायत में एडवोकेट प्रमोद पांडे ने मांग की है की इस फिल्म के कलाकारों निर्माताओं के खिलाफ सीआरपीसी की धारा 153 (3) के अंतर्गत केस दर्ज किया जाना चाहिए। सोशल मीडिया पर रावण के हेयर स्टाइल पर आपत्तियां जताई जा रही हैं तो दूसरी और हनुमान जी को बिना मूछ वाला और दाढ़ी वाला दिखाने पर भी बहुत गुस्सा दिखाया जा रहा है। बतादें कि इस फिल्म को लेकर उत्तर प्रदेश के अयोध्या जी में भगवान श्री राम जी के मंदिर के मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास जी ने गत 5 अक्टूबर 2022 को कहा था कि भगवान श्री राम, हनुमान जी और रावण का चित्रण इस फिल्म में महाकाव्य के अनुसार नहीं है। यह फिल्म उनकी गरिमा के खिलाफ है।

एक तथ्य वाल्मीकि रामायण से…

आदिपुरुष’ फिल्म के टीजर में रावण को एक चमगादड़ और ड्रैगन के बीच के जीव के ऊपर बैठा हुआ दिखाया गया है, हालाँकि वाल्मीकि रामायण रावण के रथ के बारे में कुछ और ही बताती है। वाल्मीकि रामायण में बताया गया है कि माँ सीता का हरण करने जाते समय रावण के रथ में गधे जुते हुए थे।

कामगं रथमास्थाय कांचनं रत्नभूषितम्।
पिशाचवदनैर्युक्तं खरैः कनकभूषणैः।।
– वाल्मीकि रामायण, 3.35.6

वह रथ इच्छानुसार चलने वाला और सोने का बना हुआ था। उसमें सोने के आभूषण पहने हुए पिशाचों जैसे दिखने वाले गधे जुते हुए थे। रावण उस रथ पर आरूढ़ होकर चला। आगे कहा है,

स च मायामयो दिव्यः खरयुक्तः खरस्वनः।
प्रत्यदृश्यत हेमांगो रावणस्य महारथः।।
– वाल्मीकि रामायण, 3.49.19

यानि, इतने में ही गधों से जुता हुआ और गधों की तरह आवाज करने वाला रावण का विशाल सोने का मायानिर्मित दिव्य रथ वहाँ दिखाई दिया।

अब देखना यह होगा की हिंदू आस्थाओं को तार-तार करने वाले बॉलीवुड और हिंदुओं में आरंभ हुआ यह संघर्ष किस तरह खत्म होगा क्या हिंदू हार जाएंगे या हिंदू द्रोही बॉलीवुड सुधर जायेगा ?


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *