Ajmer Dargah: Gauhar Chishti, the accomplice of Kanhiya’s slayer, who announced “Sir Tan Se Juda” was caught.”

अजमेर दरगाह के जिन लोगों के घर हिंदू भरते रहे वही निकले भयंकर हिंदुद्रोही।

अजमेर की शरीफ दरगाह का खादिम

सनातन 🚩समाचार🌎 अजमेर की शरीफ दरगाह के बारे में बहुत लंबे समय से सोशल मीडिया पर तरह-तरह की बातें चल रही हैं। जिनके बारे में अक्सर लोग यह भी कह देते थे कि यह केवल मनगढ़ंत बातें हैं, यह झूठी कहानियां है। परंतु अब जबकि सर तन से जुदा करने की घोषणाओं के बाद उदयपुर में कन्हैया लाल जी की गला काटकर हत्या की जा चुकी है उसके बाद जो कुछ सामने आ रहा है उससे स्पष्ट हो गया है कि अजमेर की शरीफ दरगाह के बारे में जो कुछ भी बहुत समय से सोशल मीडिया पर चल रहा था वह बिल्कुल सही था। क्योंकि अजमेर की जिस दरगाह पर हिंदू नाक रगड़ते रहे हैं और वहां पर खुले दिल से अपना धन लुटाते रहे हैं वहीं से जुड़े हुए खादिम लोग अब हिंदुओं के सर तन से जुदा करने के मामलों में और हिंदू देवी देवताओं के अपमान के मामले में पकड़े जा रहे हैं।

कन्हैयालाल जी की गर्दन काट दी गई थी

इसी सिलसिले में इसी सिलसिले में अजमेर की शरीफ दरगाह के खादिम चिश्ती को पुलिस ने असदुद्दीन ओवैसी के हैदराबाद से पकड़ लिया है। बता दें कि यह वही चिश्ती है जिसने खुलेआम सर तन से जुदा करने की घोषणा की थी। इसकी इस घोषणा के बाद ही कन्हैयालाल जी की गर्दन काट दी गई थी तब उसके कातिल उदयपुर से भागकर अजमेर की शरीफ दरगाह के इस गोहर चिश्ती के पास ही छिपने के लिए जा रहे थे परंतु रास्ते में उन्हें पकड़ लिया गया। अजमेर की शरीफ दरगाह से जुड़ा यह खादिम अकेला व्यक्ति नहीं है जिसने हिंदुओं के बारे में इस तरह की बातें कहीं हैं वहां के और खादिम भी हैं जो इसी तरह की बातें खुलेआम कह चुके हैं।

हत्या में उसका नाम सामने आने के बाद वह अपने परिवार सहित फरार हो गया था

बता दें कि 17 जून को गौर चिश्ती ने अजमेर की दरगाह के बाहर सर तन से जुदा करने के नारे लगवाए थे। अब गौहर चिश्ती को अजमेर लाया जा रहा है। कन्हैया लाल की हत्या में उसका नाम सामने आने के बाद वह अपने परिवार सहित फरार हो गया था 17 जून को ही सर तन से जुदा करने वाले नारे उसने उदयपुर में लगवाए थे और वहीं पर उसने कन्हैया लाल के कातिल रियाज से भी मुलाकात की थी और इसी दिन रियाज ने वह वीडियो शूट किया था जिसमें नबी की शान में गुस्ताखी करने वालों का सर तन से जुदा करने वाली बात कही थी। बताया जा रहा है कि गौहर चिश्ती के इस्लामिक संगठन पी एफ आई का सक्रिय सदस्य भी है।

थोक के भाव में देवता, उसको कैसे माना जाएगा ?

सर तन से जुदा करने की बातें करने वाले दरगाह के खादिम सरवर चिश्ती गौहर चिश्ती और adil चिश्ती सभी एक दूसरे के रिश्तेदार हैं। इनमें से एक आदिल चिश्ती ने 14 जुलाई 2022 को हिंदू देवी देवताओं का अपमान किया था उसने कहा था कि 333 करोड खुदाओं का अस्तित्व कैसे माना जाएगा ? यह कैसे हो सकता है ? एक खुदा का तो समझ में आता है। विभिन्न धर्मों के लोगों की अलग-अलग मान्यताएं हो सकती हैं, लेकिन 333 करोड़ खुदा। थोक के भाव में देवता, उसको कैसे माना जाएगा ? मैं सोचता हूं कि अगर व्यक्ति को 1000 साल की जिंदगी मिले तो भी वह 333 करोड खुदाओं को राजी नहीं कर सकता है।

शरीफ दरगाह का सच

हैदराबाद से पकड़े गए चिश्ती के खिलाफ अजमेर पुलिस ने 25 जून को भड़काऊ नारे लगवाने के आरोप में केस दर्ज किया था। अपनी तकरीर में शरीफ दरगाह के इस चिश्ती ने कहा था कि हम अपने हुजूर की शान में गुस्ताखी कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। गुस्ताख ए रसूल की एक सजा सर तन से जुदा। नूपुर ने हमारे आका की शान में गुस्ताखी की है इसलिए उसे जीने का हक नहीं है।

बताने की आवश्यकता नहीं है की बहुत सारे हिंदू अजमेर की इस शरीफ दरगाह पर जाते रहे हैं और वहां पर जी भर कर अपनी धन दौलत भी लुटाते रहे हैं। परंतु उन्हें शायद पता नहीं था की यहीं से उनकी गर्दन काटने के फरमान जारी होंगे। आम हिंदू ही नहीं बड़े-बड़े फिल्मी भांड भी अजमेर की इस शरीफ दरगाह पर जियारत करने जाते रहे हैं।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *