What will you do if Yogi Modi leaves? – Government is here today, will not be there tomorrow, will have to bear the brunt, will wear hijab instead of school uniform – ruckus “

हिंदू नेता होते तो चुप रहते किंतु भाईजान पार्षद मुजफ्फर खलीफा ने तो बड़ी धमकी ही दे दी।

सनातन🚩समाचार🌎 बेशक बहुत सारे इस्लामी मुल्कों में हिजाब पहनने का प्रचलन नहीं है किंतु हिंदुस्तान में लगातार कहीं ना कहीं किस ना किसी स्कूल में हिजाब पहनने की मांग को लेकर बवाल होता ही रहता है।

राजस्थान के जोधपुर में उस समय बवाल पैदा हो गया जब एक गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल में लगभग 13 लड़कियां एक साथ  इस्लामिक हिजाब पहनकर पहुंच गईं, जिस पर स्कूल ने आपत्ति जताते हुए उन्हें वापिस घर भेज दिया। इसके बाद जब लड़कियां दोबारा अपने परिजनों को साथ लेकर स्कूल में पहुंच गई तब स्कूल में भारी हंगामा हो गया। जिसके चलते स्कूल के अन्य बच्चों की पढ़ाई में भी रुकावट आ गई।

प्राप्त हुए विवरण के अनुसार जोधपुर के पीपाड़ कस्बे में ये गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल स्थित है। स्कूल प्रशासन के अनुसार यहां पर स्कूल में लगभग 13 लड़कियां हिजाब पहनकर पहुंच गईं, क्योंकि स्कूल में एक ड्रेस कोड है तथा सभी विद्यार्थी स्कूल की यूनिफॉर्म में ही स्कूल में आते हैं, इसलिए स्कूल के ड्रेस कोड का उल्लंघन किए जाने पर इन हिजाब वाली लड़कियों को वापस भेज दिया गया। इसके बाद छात्राओं के साथ उनके अभिभावक भी वापस स्कूल में आ गए और उन सभी ने बहुत ज्यादा हो हल्ला किया।

इस सारे घटनाक्रम के बारे में स्कूल के प्रिंसिपल राम किशोर सांखला का कहना है कि स्कूल में पढ़ने वाली लड़कियां एक अन्य कपड़े से सर और मुंह ढक कर स्कूल में आई थीं। जिसके कारण उन्हें मना किया गया। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा निर्धारित यूनिफॉर्म में ही स्कूल में आने की अनुमति है। यदि सिर ढक कर ही आना है तो स्कूल की यूनिफॉर्म की चुन्नी का प्रयोग किया जा सकता है। प्रिंसिपल के अनुसार उन्होंने यह सारी बातें छात्रों के साथ आने वाले उनके परिजनों को धैर्य पूर्वक बताई, किंतु छात्राओं के परिवार परिजन लगातार हंगामा करते रहे।

इस सारे विवाद में स्कूल के प्रिंसिपल ने स्थानीय पार्षद मुजफ्फर खलीफा पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने शिक्षकों को धमकी दी है,  जिसमें उन्होंने कहा है कि आज जो सरकार है वो कल नहीं रहेगी। लेकिन अध्यापक हमेशा यही रहने वाले हैं जिनको इसका खामियाजा  भुगतना ही पड़ेगा। स्कूल प्रशासन के अनुसार इस तरह की धमकी मिलने के बाद उन्होंने पुलिस में इसकी शिकायत दे दी है।  इस हो रहे हंगामें की सूचना पाकर पुलिस भी गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल में पहुंच गई और दोनों पक्षों को समझा कर माहौल को शांत किया।

बताने की आवश्यकता नहीं है की दुनिया के काफी इस्लामी मुल्कों में हिजाब पहनना अनिवार्य नहीं है, किंतु हिंदुस्तान में लगातार स्कूली छात्राएं हिजाब पहनने की मांग पर अड़ रही हैं। जिसके कारण कई बार काफी स्थानों पर सांप्रदायिक तनाव भी पैदा हो चुका है।

हिंदू द्रोही मीडिया के लिए बहुत फंडिंग है, किंतु हिंदुत्ववादी मीडिया को अपना खर्चा चलाना भी मुश्किल है। हिंदुत्व/धर्म के इस अभियान को जारी रखने के लिए कृपया हमे DONATE करें। Donate Now या 7837213007 पर Paytm करें या Goole Pay करें।

By Ashwani Hindu

अशवनी हिन्दू (शर्मा) मुख्य सेवादार "सनातन धर्म रक्षा मंच" एवं ब्यूरो चीफ "सनातन समाचार"। जीवन का लक्ष्य: केवल और केवल सनातन/हिंदुत्व के लिए हर तरह से प्रयास करना और हिंदुत्व को समर्पित योद्धाओं को अपने अभियान से जोड़ना या उनसे जुड़ जाना🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *